REET Result 2022: अभ्यर्थियों द्वारा रीट नॉर्मलाइजेशन की मांग तेज 23 जुलाई को दूसरी पारी का पेपर सबसे कठिन, बोर्ड नहीं माना तो जायेंगे कोर्ट

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram

REET Result 2022: रीट भर्ती परीक्षा का रिजल्ट जारी होने से पहले ही अभ्यर्थियों की मांग तेज हो गयी है। राजस्थान पात्रता परीक्षा में शामिल अभ्यर्थियों ने नॉर्मलाइजेशनके आधार पर रिजल्ट जारी करने की मांग की है। अभ्यर्थियों का मनना है की 23 और 24 जुलाई को आयोजित दोनों दिनों के चारो पेपर अलग अलग श्रेणी के थे। जिसमे कुछ पारी के पेपर सरल को कुछ पारी के पेपर कठिन थे। ऐसे में अभ्यर्थियों द्वारा नॉर्मलाइजेशन के आधार पर रिजल्ट जारी करने की मांग की है।

REET Result 2022 Normalization Process
REET Result 2022 Normalization Process

दैनिक भास्कर के अनुसार 23 जुलाई को दूसरी पारी की परीक्षा देने वाली सरोज ने बताया कि इस बार चारों दिन अलग-अलग पेपर के स्तर में काफी अंतर था। मैंने 23 जुलाई को दूसरी पारी की परीक्षा दी थी। जिसका पेपर काफी कठिन था। ऐसे में मेरे मार्क्स 60% से भी कम आ रहे हैं। जबकि उसी दिन पहली पारी का पेपर काफी सरल था। जिसमें स्टूडेंट्स के आसानी से 70% तक नंबर आ रहे है। ऐसे में अगर नॉर्मलाइजेशन नहीं होगा । तो हम कोर्ट जायगे और अपनी वाजिब मांग के लिए लड़ेंगे।

REET Answer Key 2022

रीट भर्ती परीक्षा की आंसर की अब बोर्ड द्वारा जल्द ही जारी की जाएगी। बोर्ड द्वारा अभी तक रीट की आंसर की जारी करने को लेकर अभी तक कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया है। लेकिन अनुमान है की जल्द ही रीट की आंसर की जारी की जाएगी। पिछली बार पूरक परीक्षा के रीट की आंसर की जारी करने में देरी की गयी थी तथा बाद में सवतरनता दिवस आ गया। अब बोर्ड द्वारा कुछ ही दिनों में रीट की आंसर की जारी की जाएगी। परीक्षार्थी रीट की आंसर की बोर्ड की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करके डाउनलोड कर सकेंगे।

REET 2022 Normalization: नॉर्मलाइजेशन क्या है और कैसे होता है?

  • जो उम्मीदवार ये सोचता है की उन्होंने ने अपनी पाली में न्यूनतम अंक प्राप्त किये है वे भी उच्च अंक प्राप्त कर सकते है.
  • जो उम्मीदवार सोचते है की उच्च अंक प्राप्त कर सकते है वे वास्तव में कम सामान्यकृत अंक प्राप्त करेंगे.
  • उम्मीदवारों का चयन के लिए बहुत तेज़ और आसान प्रक्रिया होगी.
  • कठिन और आसान स्तर के साथ परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को अब एक समान देखा जायेगा.
  • अलग अलग पारियो के आधार पर अब कोई भिन्नता नहीं होगी.

उदाहरण के तौर पर 150 नंबर के एग्जाम में पहले दिन का पेपर हार्ड रहा और कोई कैंडिडेट 100 नंबर ले आया, वहीं दूसरी पारी का पेपर आसान था तो उसमें स्टूडेंट के नंबर 130 आ गए। ऐसे हर पारी के स्टूडेंट्स के मार्क में डिफरेंस की तुलना की जाती है। फिर उसका एक फॉर्मूले से औसत निकाला जाता है। माना औसत 30 नंबर निकला तो इसे 100 नंबर लाने वाले अभ्यर्थी के फाइनल नंबर के साथ जोड़ देते हैं।

REET Result 2022 Important Link

REET Official Answer Key Click Here
REET Result 2022 Click Here
REET 2022 Normalization Click Here
Official Website Click Here
Join Our WhatsApp Group Click Here
Read Must

1 thought on “REET Result 2022: अभ्यर्थियों द्वारा रीट नॉर्मलाइजेशन की मांग तेज 23 जुलाई को दूसरी पारी का पेपर सबसे कठिन, बोर्ड नहीं माना तो जायेंगे कोर्ट”

  1. ये अन्याय क्यो सभी का पेपर एक जैसा होना चाहिए था या कुछ नंबर बड़ा दो ऐसे तो मर जायेंगे

    Reply

Leave a Comment